Software क्या है और साफ्टवेयर प्रकार [Types of Software]

साफ्टवेयर क्या है और कितने प्रकार के होते हैं? What is Software in Hindi
Software and its type

सोफ्टवेयर हमारे कंप्यूटर सिस्टम पर चलने वाली जानकारी को कहते है .प्रोग्राम्स का दूसरा नाम software हैं। जिसको हम केवल देख सकते हैं और उस पर कार्य कर सकते हैं, उसे ही सॉफ्टवेयर कहते हैं।

 हम हार्डवेयर को मनुष्य का शरीर और सॉफ्टवेर को उसकी आत्मा कह सकते हैं। हार्डवेयर कंप्यूटर के हिस्सों को कहते हैं, जिन्हें हम अपनी आँखों से देख सकते हैं, छू सकते हैं अथवा औजारों से उनपर कार्य कर सकते हैं! ये वास्तविक पदार्थ है! इसके विपरीत सॉफ्टवेयर कोई पदार्थ नहीं है! ये वे सूचनाएं, आदेश अथवा तरीके हैं जिनके आधार पर कंप्यूटर का हार्डवेयर कार्य करता है!

YOU MAY READ: जीबी व्हाट्सएप (2022) GB WhatsApp Download Anti-Ban Update

Software के प्रकार (Types of Software)

कंप्यूटर सॉफ्टवेयर तीन प्रकार के होते हैं।

  • सिस्टम सॉफ्टवेयर (System Software)
  • अनुप्रयोग सॉफ्टवेयर (Application Softwar)
  • प्रोग्रामिंग सॉफ्टवेयर (Utility Software)

1. System Software –

यह हमें computer open करने पर सबसे पहले दिखाई देता हैं। इसका काम सिस्टम अर्थात कम्प्यूटर को चलाना तथा उसे काम करने लायक बनाए रखना है। सिस्टम सॉफ्टवेयर ही हार्डवेयर में जान डालता है। इसे बैकग्राउंड software भी कहते हैं।सिस्टम सॉफ्टवेयर अकेला प्रोग्राम नहीं हैं बल्कि यह प्रोग्राम का एक समूह है ,जिसमें निम्नलिखित भी शामिल हैं।

YOU MAY READ: Windows 11 ISO Download करें (Direct Link)

1.1 Oprating Software

ऑपरेटिंग सिस्टम व्यवस्थित रूप से जमे हुए साफ्टवेयर का एक समूह होता है जो आंकडो एवं निर्देश के संचरण को नियंत्रित करता है। आपरेटिंग सिस्टम हार्डवेयर और साफ्टवेयर के बीच सेतु/पुल का कार्य करता है। कम्प्यूटर अपने आप में कोई भी अस्तित्व नही रखता है। यह केवल हार्डवेयर like keyboard, मॉनिटर, CPU इत्यादि का समूह है।

आपरेटिंग सिस्टम(OS) समस्त हार्डवेयर के बीच सम्बंध स्थापित करता है। आपरेटिंग सिस्टम के कारण ही प्रयोगकर्ता को कम्प्यूटर के विभिन्न भागों की जानकारी रखने की आवश्यकता नहीं पड़ती है। यह सिस्टम के संसाधनों को बांटता एवं व्यवस्थित करता है। उदाहरण के लिए आप प्रिटिंग का कोई काम करें तो केन्द्रिय प्रोसेसर आवश्यक आदेश देकर वह कार्य आपरेटिंग सिस्टम पर छोड देता है और वह स्वयं अगला कार्य करने लगता है।

इसके अतिरिक्त फाइल को पुनः नाम देना, डायरेक्टरी की विषय सूची बदलना, डायरेक्टरी बदलना आदि कार्य आपरेटिंग सिस्टम के द्वारा किए जाते है।

आज के समय में सबसे प्रचलित ऑपरेटिंग सिस्टम हैं वह माइक्रोसॉफ्ट कंपनी द्वारा बनाये गये हैं। जैसे इनमें डॉस (DOS), विंडोज-98, विंडोज-एक्स पी, विंडोज-विस्टा, Windows 10 प्रमुख हैं।

YOU MAY READ: 6 Easy Ways to Access Blocked Sites Online for FREE

यह एक विशेष प्रोग्राम होता है जो एक विशेष इनपुट और आउटपुट डिवाइस को शेष computer से संचार के लिए प्रेरित करता है।

2. Application Software

यह कम्प्यूटर सॉफ्टवेयर का एक उपवर्ग है जो User द्वारा इच्छित काम को करने के लिए प्रयोग किया जाता हैं। इसे एंड यूजर का software कहा जाता हैं।

Application Software वे Software होते है जो यूजर तथा Computer को जोड़ने का कार्य करते है।

Application Software Computer के लिए बहुत जरुरी होते है यदि कंप्यूटर में कोई भी Application Software नहीं है तो हम कंप्यूटर पर कोई भी कार्य नहीं कर सकते है Application Software के बिना कंप्यूटर मात्र एक डिब्बा हैं| Application Software के अंतर्गत कई Program आते है जो निम्नलिखित हैं।

  • Microsoft Word
  • Adobe Photoshop
  • MS PowerPoint
  • Notepaid
  • VLC Media Player
  • सभी ब्राउज़र (Google Chrome, Firefox etc.

YOU MAY READ: 8 Best Free Music Streaming Apps in India

3. Utility Software

इसको सर्विस प्रोग्राम के नाम से भी जानते हैं ,जो computer संसाधनों के प्रबंधन का काम करते है।जैसे डिस्क डीफ्रैगमेंटरनामक विंडोज। यूटिलिटीज अनावश्यक फाइलों को पहचान कर डिलीट करता हैं ,और खाली स्थानों को भरकर फाइलों को क्रम से सुव्यवस्थित करता हैं।जिससे computer का कार्य बहतेर से होता है।

YOU MAY READ:

Leave a Reply

Your email address will not be published.