कम्प्युटर क्या है? What is Computer in Hindi

Computer kya hai यह बताने की जरूरत नहीं है। मगर जिन लोगो को नहीं पता की कम्प्युटर क्या है उन्हे बता दे की आज के समय में computer के बिना डिजिटल युग की कल्पना करना मुमकिन नहीं है। आज के AI भरे जमाने में लगभग हर काम कम्प्युटर की मदद से किया जा रहा है। मगर ये कम्प्युटर है क्या? ये laptop क्या होता है? PC क्या है? Computer full form क्या है? तो यहाँ आज आपको मिलेंगे आपके सारे सवालो के जवाब। तो चलिये जानते है की What is Computer in Hindi?

Laptop, Desktop Computer and its part
Laptop, Desktop Computer and its part

कम्प्युटर क्या है?

Computer एक Electronic उपकरण है जो user के निर्देशानुसार दिये गए डाटा को प्रोसैस रिज़ल्ट प्रदान करता है। कम्प्युटर एक ऐसा मशीन है जो कई काम एक साथ कर सकता है, input को प्रोसैस करके output दे सकता है, और कम समय में बड़ी गणनाओ को कर सकता है। कम्प्युटर शब्द की उत्पत्ति “computare” नाम के latin शब्द से हुई है जिसका अर्थ “गणना करना” है।

What is Computer in Hindi | Computer kya hai? कम्प्युटर क्या है?

Computer में आप कई तरह के काम कर सकते है। जैसे इंटरनेट browse कर सकते है, ऑनलाइन विडियो देख सकते है, ब्लॉग पढ़ सकते है, ऑनलाइन रिसर्च कर सकते है, तरह-तरह की वैबसाइट बना सकते है, apps बना सकते है, नई skill सीख सकते है, डॉकयुमेंट स्कैन कर सकते है और भी बहुत कुछ।

कम्प्युटर के मुख्य तीन काम होते है –

  1. Data input – इसमें user जानकारी को कम्प्युटर में देता है। जैसे कीबोर्ड की की मदद से text को कम्प्युटर में भेजना, webcam से विडियो एवं फोटो को कम्प्युटर में सेव करना इत्यादि
  2. Data Process – आपके द्वारा दी गयी जानकारी को कम्प्युटर समझता है और user के निर्देशानुसार अपने गंतव्य स्थान तक आगे भेजता है। इस प्रक्रिया को इंग्लिश में “process” कहा जाता है।
  3. Output – जो जानकारी कम्प्युटर ने process की है उसे दोबारा user तक पहुचाना आउटपुट कहा जाता है। जैसे जानकारी को मॉनिटर पर प्रदर्शित करना इत्यादि।
computer-processing

आज के समय में जो computer हम देखते है उसके पीछे का श्रेय Charles Babbage को जाता है। इसलिए Charles Babbage को आधुनिक कम्प्युटर का जनक कहा जाता है। सबसे पहले उन्होने मेकनिकल कम्प्युटर को डिज़ाइन किया था।

Computer Full Form

Computer एक एलेक्ट्रोनिक उपकरण है। कुछ लोग इसे कहते है की इस कम्प्युटर शब्द की उत्पत्ति computare शब्द से हुई है।मगर कुछ लोग एक अलग कम्प्युटर फुल्ल फॉर्म बताते है। इस अनुसार computer full form “Common Operating Machine Purposely Used for Technological and Educational Research” है।

Computer के पार्ट्स

कम्प्युटर कई छोटे-छोटे उपकरण की सहायता से निर्मित होता है। जिसमें से मॉनिटर, CPU, कीबोर्ड, mouse, speaker, printer, वाईफाई राउटर आदि मुख्य है।

1. Computer Monitor

Computer में मॉनिटर वह डिवाइस होता है जिसकी मदद से आप किसी भी जानकारी को देख पाते है। इसमें एक डिस्प्ले लगा होता है जहां जंकरिया, डाटा, चित्र, विडियो इत्यादि प्रदर्शित होते है।

computer monitor - computer parts | Computer kya hai
Computer Monitor

2. CPU

CPU full form “Central processing unit” है। इसे कम्प्युटर का दिमाग भी कहा जाता है। कम्प्युटर के सारी प्रक्रियाए इसी के द्वारा होती है और सारी इन्फॉर्मेशन Desktop CPU में ही संग्रहीत रहती है। असल में सीपीयू एक प्रकार की चिप होती है जिसे प्रॉसेसर भी कहा जाता है। यह processor इस Desktop में लगा होता है। मगर समान्यतः लोग इस पूरे computer CPU टावर को ही सीपीयू कहते है।

Desktop CPU - Parts of a Computer in Hindi
Desktop CPU

एक सीपीयू में कई उपकरण लगे होते है जैसे –

  • Hard Drive Disk
  • Solid State Drive (SSD)
  • RAM
  • प्रॉसेसर
  • Motherboard
  • CPU Cabin
  • Graphics Card
  • Power Unit

समान्यतः ये सारे उपकरण सभी प्रकार के modern computer में मौजूद होते है। इनके बारें में विस्तार से हम आगे पढ़ेंगे।

3. Keyboard

Keyboard
Keyboard

कीबोर्ड वह उपकरण होता है जिसकी सहायता से व्यक्ति कम्प्युटर में typing कर पाने में सक्षम होता है। MS Office में काम करते समय Keyboard की मदद से ही सारी जानकारी कम्प्युटर में प्रदान की जाती है।

आधुनिक कम्प्युटर में कीबोर्ड दो प्रकार के होते है –

  1. Wireless Keyboard – इस कीबोर्ड में wire नहीं होता है। यह एक चिप की सहायता से या फिर bluetooth की सहायता से computer/laptop/PC से कनैक्ट किया जाता है।
  2. Wired Keyboard – ये wire कई सहायता से computer या laptop से जोड़े जाते है।

4. Mouse

Computer Mouse वह युक्ति होती है जिसकी मदद से मॉनिटर पर देखाए जाए रहे कर्सर को एक स्थान से दूसरे स्थान पर मुव किया जाता है। कम्प्युटर के संचालन में computer mouse काफी जरूरी होता है। यह एक चूहे के आकार का होता है जिस वजह से इसका नाम भी Mouse(चूहे के English नाम) पड़ गया। Laptop में माऊस की जगह touchpad होता है जो माऊस की तरह ही काम करता है।

कम्प्युटर माऊस भी समान्यतः दो प्रकार के होते है।

  1. Wired Mouse – वह माऊस जो किसी वाइर की मदद से कम्प्युटर या लैपटाप में कनैक्ट किए जाते है।
  2. Wireless Mouse – वह computer जो बिना wire के होते है एवं wireless चिप अथवा bluetooth की मदद से connect किए जाते है।
Computer Mouse Wireless
Wireless mouse

5. Speaker

Speaker किसी कम्प्युटर की वह युक्ति होती है जो कम्प्युटर में रेकॉर्ड आवाज को हमें सुनने में मदद करती है। जिस प्रकार से आजकल फोन में songs सुनने के लिए एक inbuilt स्पीकर आता है ठीक वैसे ही कम्प्युटर में हमें एक अलग से साउंड स्पीकर की जरूरत होती है।

आजतक ऐसे मॉनिटर आ गए है जिसमें पहले से ही speaker inbuilt होते है। इस वजह से हमें अलग से स्पीकर की जरूरत नहीं होती है। इसके साथ ही आधुनिक युग में ब्लुटूथ स्पीकर होते है।

YOU MAY READ:

कम्प्युटर का इतिहास (Generation of Computer in Hindi)

शुरुआत में जब कम्प्युटर बने तो उनका आकार एक कमरे से भी ज़्यादा बड़ा था। मगर धीरे-धीरे technology का विकास होता गया और आज एक कम्प्युटर का आकार इतना छोटा हो गया है की उसे आसानी से कही भी लेकर जया जा सकता है। कम्प्युटर का वर्गीकरण उनकी पढ़ियों के रूप में किया जा सकता है।

1. Vacuum Tubes (1940-1956) – कम्प्युटर की पहली पीढ़ी

Generation of Computer in Hindi
1st Generation of Computer in Hindi

यह पहले जेनेरेशन के कम्प्युटर कहलाए जिनमें Vaccum tubes का इस्तेमाल किया गया। इनमें magnatic drum को मेमोरी के लिए इस्तेमाल किया जाता था। ये size में बहुत बड़े होते थे। इन्हे चलाने के लिए बहुत ऊर्जा की जरूरत होती थी।

2. Transistors (1956-1964) – कंप्यूटर की दूसरी पीढ़ी

First generation के कम्प्युटर साइज़ में काफी बड़े, भारी और चलने मे काफी धीमें थे। इसलिए आगामी कम्प्युटर को बनाने में ट्रंजिस्टर का उपयोगा किया गया। यह द्वितीय पीढ़ी के कम्प्युटर कहलाए।

ट्रंजिस्टर आकार में छोटे थे और चलने में वैक्युम ट्यूब से फास्ट थे। साथ ही यह कम ऊर्जा पर चलते थे। इसलिए अब कम्प्युटर में ट्रंजिस्टर का उपयोग किया जाने लगा। Computer second generation के कम्प्युटर में COBOL और FORTRAN जैसी High leval programming language का उपयोग किया गया।

ALSO READ THIS: VPN क्या है और यह कैसे काम करता है?

3. Integrated Circuit (1965-71) – कम्प्युटर की 3rd पीढ़ी

the third generation of computer in Hindi
The third generation of computer in Hindi

1971 के समय में कम्प्युटर को ओर तेज़ बनाने के लिए इनमें I.C. का इस्तेमाल किया जाने लगा। यह Third Generation of Computer in Hindi दूसरी पीढ़ी के कम्प्युटर से तेज़ थी जो integrated circuit की मदद से चलते थे। दरहसल IC एक ऐसा यूनिट होता है जिसमें एक ही छोटी जगह पर कई सारे transistors को फिट किया जाता है।

4. Large I.C (1971-85) – Fourth Generation of Computer in Hindi

1971 से 1985 के बीच के computer को चौथी पीढ़ी के कम्प्युटर कहा जाता है। इनमें intergreted circuit को advanced बनाया गया और इसे Large Integreted Circuit कहा गया।

एक I.C. हजारो ट्रंजिस्टर के बराबर काम करती है। सारी प्रोसेसिंग अब एक छोटी की micro chip पर आ गयी जिसे micro processor नाम दिया गया। जिन कम्प्युटर में माइक्रो प्रॉसेसर का इस्तेमाल किया जाता था उन्हे Micro Computer कहा जाता है।

Fourth Generation के कम्प्युटर अब आकार में काफी छोटे हो चुके थे जिसकी वजह से इनका रख-रखाव काफी आसान हो गया था और इनकी कीमत भी कम हो चुकी थी। जिस वजह से आम-आदमी भी अब इसे खरीद सकता था। ALTAIR 8800 दुनिया का पहला माइक्रो कम्प्युटर था जिसे MITS ने बनाया था। इसमें प्रयुक्त basic language को उस समय Bill Gates ने set किया जा। Bill Gates की कंपनी आज Microsoft के नाम से जानी जाती है जो दुनियाभर में कम्प्युटर पर चलने वाले Windows OS को बनाती है।

YOU MAY READ: The Best Free VPN for Android 2022

5. Artificial Intelligence (1985-अब तक) – Fifth Geneation of Computer

कम्प्युटर की पाँचवी पीढ़ी के अंतर्गत 1985 से अब तक के सभी कम्प्युटर पर आते है। इस पीढ़ी की शुरुआत में कम्प्युटर में Ultra Large Scale Integrated Circuit(ULSIC) & Very Large Scale Integrated Circuit(VLSIC) का उपयोग होता था। आज के समय में ये टेक्नालजी काफी advanced हो गयी है। समय के साथ-साथ कम्प्युटर का आकार इतना छोटा हो गया है की अब इसे आसानी से काही पर भी लेकर घूम सकते है।

आधुनिक computer में Artificial Intelligence को समाहित किया गया जिसकी वजह से computer अब अपने स्वयं के हिसाब से निर्णय ले सकता है। आज के समय में जरूरत के हिसाब से किसी भी प्रकार के आकार का कम्प्युटर खरीद सकते है। बाज़ार में तरह-तरह प्रकार के gaming laptop, office laptop, desktop इत्यादि आ चुके है।

इसके साथ है 21वीं सदी के computer में अलग-अलग तरह की programming language और oprating system देखने को मिलेंगे। जैसे की Apple MacBook में हमें MacOS मिलता है वही Dell, HP, Acer, Asus जैसी कंपनी के कम्प्युटर और लैपटाप में Windows 10 और Linux जैसे OS देखने को मिलते है।

अगर आपको हमारी यह जानती “Computer kya hai? What is Computer in Hindi? Generation of Computer in Hindi” उपयोगी लगी हो तो इसे जरूरतमंद के लोगो को share करें और अपने विचार comment box में बताए।

You May Read:

Leave a Reply

Your email address will not be published.